देश के 400 साहित्यकारों ने मोदी के पक्ष में मतदान की अपील की

नई दिल्‍ली। साहित्यकारों के एक समूह ने देशवासियों से मोदी के पक्ष में मतदान करने की अपील की है। नरेंद्र कोहली, चित्रा मुद्गल, सूर्यकांत बाली समेत देशभर के 400 से अधिक साहित्यकारों ने देशवासियों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पक्ष में वोट करने की अपील की है। भारतीय साहित्कार संगठन ने अपनी अपील में कहा है कि वोटरों को अपना वोट देश की अखंडता, सुरक्षा, स्वाभिमान और विकास को बनाए रखने के लिए दें।
इससे पहले करीब 200 लेखकों द्वारा मोदी सरकार के खिलाफ वोटिंग करने की अपील की गई थी। अब 400 साहित्‍यकारों की अपील को 200 साहित्‍यकारों के प्रोपेगंडा का जवाब माना जा रहा है।
400 साहित्यकारों ने अपनी अपील में कहा है, ‘भारतीय लोकतंत्र में संविधान का महत्व सर्वोपरि है अतः हम साहित्यकार देशवासियों से अपील करते हैं कि आप अपना बहुमूल्य वोट देश की अखंडता, सुरक्षा, स्वाभिमान, संप्रभुता, सांप्रदायिक सद्भाव, सर्वांगीण विकास आदि को बनाए रखने के लिए दें।’
अपील में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दुनिया में देश की प्रतिष्ठा बढ़ाने वाला, राष्ट्रीय सुरक्षा के प्रति प्रतिबद्ध और अंतिम जन तक विकास की नई धारा प्रवाहित करने वाला नेता बताया गया है।
इससे पहले, इंडियन राइटर्स फोरम की ओर से जारी अपील में अलग-अलग भाषाओं के 200 से अधिक लेखकों ने ‘नफरत की राजनीति’ के खिलाफ वोट करने की अपील की थी।
गिरीश कर्नाड, रोमिला थापर, अमिताव घोष, नयनतारा सहगल और अरुंधती रॉय सरीखे लेखकों ने अपने बयान में मोदी सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। बयान के मुताबिक, ‘लेखकों, कलाकारों, फिल्मकारों, संगीतकारों और अन्य सांस्कृतिक लोगों को डराया-धमकाया गया और उनका मुंह बंद कराने की कोशिश की गई।’ लेखकों ने कहा, ‘सत्ताधारियों से सवाल करने वाले किसी भी शख्स को प्रताड़ित करने या गलत एवं हास्यास्पद आरोपों में गिरफ्तार किए जाने का खतरा है। हम सब चाहते हैं कि इसमें बदलाव आए…पहला कदम यह होगा, जो हम जल्द ही उठा सकते हैं, कि नफरत की राजनीति को उखाड़ फेंके और इसलिए हम सभी नागरिकों से अपील करते हैं कि वे एक विविधतापूर्ण एवं समान भारत के लिए मतदान करें।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »