केडी मेडिकल में Curriculum implementation सपोर्ट प्रोग्राम

मथुरा। KD मेडिकल कॉलेज-हाॅस्पिटल एण्ड रिसर्च सेंटर में हुए तीन दिवसीय Curriculum implementation सपोर्ट प्रोग्राम के दौरान मेडिकल कौंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) के ऑब्‍जर्वर डॉ. श्रीनिवास एम. ने कहा कि आज मरीजों का डॉक्टर के प्रति कम होता विश्वास चिन्ता का विषय है। इस विश्वास को डॉक्टर्स अपनी अच्छी बातचीत और व्यवहार से पुनः बहाल कर सकते हैं। डॉक्टर अपने मरीज को प्रॉब्लम न समझते हुए उसके साथ आत्मीय सम्बन्ध स्थापित कर उसका विश्वास जीतने की कोशिश करें तो दोनों के बीच सकारात्मक सम्बन्ध स्थापित हो सकते हैं। डॉ. श्रीनिवास एम. ने कहा कि डॉक्टर्स को मरीज और उसके परिजनों को यथास्थिति से अवगत कराने के लिए सत्यं ब्रूयात, प्रियं ब्रूयात का सहारा लेना चाहिए।

Curriculum implementation सपोर्ट प्रोग्राम में KD मेडिकल कॉलेज-हाॅस्पिटल एण्ड रिसर्च सेंटर में स्थापित स्किल लैब के माध्यम से डॉक्टर्स को मरीज के चेकअप, इंजेक्शन आदि लगाने की जानकारी दी गई। इस वर्कशॉप में मरीज व उनके परिजनों से चिकित्सकों का कैसा व्यवहार हो, इस बात पर विशेष जोर दिया गया।

गौरतलब है कि मेडिकल कौंसिल ऑफ इंडिया ने 21 साल बाद एमबीबीएस के पाठ्यक्रम में आमूल-चूल परविर्तन किए हैं। इस परिवर्तन से मेडिकल प्राध्यापकों को अवगत कराने के लिए मेडिकल कौंसिल ऑफ इंडिया विभिन्न कार्यक्रम आयोजित कर रही है। पिछले दिनों  KD मेडिकल कॉलेज में चार दिवसीय रिवाइज्ड बेसिक कोर्स वर्कशॉप का आयोजन किया गया था।

 KD मेडिकल कॉलेज के मेडिकल एजुकेशन यूनिट के कोऑर्डिनेटर डॉ. मोहम्मद इमरान का कहना है कि तीन दिवसीय करिकुलम इम्प्लीमेंटेशन सपोर्ट प्रोग्राम में स्किल लैब पर विशेष फोकस किया गया। इस कार्यक्रम में डॉक्टर्स को प्रयोगात्मक तरीके से मरीज के उपचार और उससे बातचीत के तरीके बताए गए। KD मेडिकल कालेज की डीन डा. मंजू नवानी का कहना है कि KD मेडिकल कॉलेज में हुई वर्कशॉप काफी उपयोगी रही। इस वर्कशॉप में प्रशिक्षण हासिल करने वाले मेडिकल प्राध्यापकों का कहना है कि जो प्रायोगिक ज्ञान मिला उसका लाभ जरूर मिलेगा।

तीन दिवसीय करिकुलम इम्प्लीमेंटेशन सपोर्ट प्रोग्राम पर आरके एजुकेशन हब के चेयरमैन डॉ. रामकिशोर अग्रवाल ने कहा कि समाज में चिकित्सक को भगवान का दर्जा प्राप्त है, ऐसे में जरूरी है कि डॉक्टर्स अपने मधुर व्यवहार से मरीज का दिल जीतें। मीठी वाणी से आधा दर्द तो अपने आप दूर हो जाता है। डॉ. अग्रवाल ने कहा कि जीवन सीखने का ही नाम है।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *