यूपी में दो शेल्टर होम से 24 बच्चे लापता, 15 सितंबर तक रिपोर्ट तलब

वाराणसी। देवरिया के शेल्टर होम में यौन शोषण का मामला सामने आने के बाद अब यूपी में दो शेल्टर होम से 24 बच्चे लापता बताए जा रहे हैं। पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी शेल्टर होम से बच्चे गुम हैं। राज्य के दो विशेष आश्रय स्थलों- वाराणसी के लक्ष्मी शिशु गृह और मीरजापुर के महादेव शिशु गृह में बच्चों के गुम होने के खुलासे के बाद हड़कंप मच गया है।
केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने इस मामले पर संज्ञान लेते हुए 15 सितंबर तक रिपोर्ट तलब की है, जिसके बाद दोनों जिलों के डीएम ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं। अधिकारियों का कहना है कि मंत्रालय ने सेंट्रल अडॉप्शन रिसॉर्स एजेंसी (सीएआरए) के चाइल्ड अडॉप्शन रिसॉर्स इन्फर्मेशन ऐंड गाइडेंस सिस्टम (केयरिंग्स) से मिले 3 साल के ब्यौरे के बाद यह कदम उठाया है। संस्था की रिपोर्ट में खुलासा हुआ था कि वाराणसी में 7 और मीरजापुर में 17 बच्चों को न तो अडॉप्ट किया गया और न ही वे इन शेल्टर होम में पाए गए।
महिला-बाल विकास मंत्रालय के खत से खुलासा
केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्रालय में अडिशनल सेक्रटरी अजय तिरके ने यूपी की बाल विकास विभाग की चीफ सेक्रटरी रेणुका कुमार को 21 अगस्त को एक पत्र लिखा। इसमें उन्होंने कहा कि लक्ष्मी शिशु गृह के 3 वर्षों के मिले ब्यौरे से पता चला है कि 15 बच्चों को यहां लाया गया लेकिन इस दौरान कोई अडॉप्शन नहीं हुआ।
नहीं मिला 24 बच्चों का रेकॉर्ड
मंत्रालय के खत में कहा गया है, ‘केयरिंग्स के मुताबिक इस शेल्टर होम में 16 अप्रैल को 8 बच्चे मिले थे, जबकि यहां नहीं पाए गए बाकी 7 बच्चों का कोई रेकॉर्ड नहीं था। इसी तरह मीरजापुर के महादेव शिशु गृह ने दिखाया कि वहां 38 बच्चे ऐडमिट हुए, जबकि इस दौरान 15 बच्चों को अडॉप्ट किया गया। 16 अप्रैल को यहां 6 बच्चे मौजूद मिले।’ खत में कहा गया है कि बाकी 17 बच्चों के बारे में न तो कोई ब्यौरा मिला है और न ही वे शिशु गृह में पाए गए।
ब्लैकलिस्ट हुआ था एक शेल्टर होम
केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने वाराणसी और मीरजापुर के डीएम से चाइल्ड वेलफेयर कमिटी और जिला बाल संरक्षण इकाइयों की कार्यप्रणाली के बारे में रिपोर्ट मांगी है। वाराणसी के जिला प्रॉबेशन अधिकारी अधिकारी प्रवीण कुमार त्रिपाठी का कहना है, ‘मार्च में लक्ष्मी शिशु गृह को ब्लैकलिस्ट किया गया था। मंत्रालय के खत को देखते हुए हम सात बच्चों के बारे में जानकारी जुटाने की कोशिश कर रहे हैं।’
बता दें कि अगस्त में देवरिया के मां विंध्यवासिनी शेल्टर होम में महिलाओं और लड़कियों के यौन शोषण का मामला सामने आया था। -एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »