UP की 20 sugar mills ने सरकार को बेची करोड़ों की बिजली

मुज़फ्फरनगर। मुज़फ्फरनगर जिले की छह sugar mills सहित कुल 20 चीनी मिलों ने वर्ष 2016-17 में उत्तर प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड (यूपीपीसीएल) को 214 करोड़ रूपये मूल्य की अतिरिक्त बिजली बेची। जिला गन्ना अधिकारी (डीसीओ) ओपी यादव ने बताया कि
मुजफ्फरनगर के खतौली, तितवई, बुढाना, मनसूरपुर, टिकोला और खैखेरी इलाकों की छह चीनी मिलों ने 78 करोड़ रूपये मूल्य की बिजली बेची।

चीनी मिलें गन्ने के अपशिष्ट को जला कर बिजली उत्पादित करती हैं और अपनी खपत के बाद अतिरिक्त बिजली सरकार को बेच देती हैं। महाराष्ट्र के बाद उत्तर प्रदेश भारत का सबसे बड़ा गन्ना उत्पादक राज्य है।

गन्ना किसानों के बकाये का भुगतान पूरा हुआ

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार किसानों के लिए लगातार कदम उठा रही है। गन्ना किसानों को लेकर तो खास ऐलान भी किए गए थे। इसकी सख्ती का नतीजा है कि कुल आठ दोषी चीनी मिलों में से छह ने गन्ना किसानों के बकाए का भुगतान कर दिया है। जिले के गन्ना अधिकारी ओमप्रकाश यादव ने बताया कि शेष दोषी गन्ना मिल,भेसानी मिल्स और खखेरी मिल्स भी जल्द बकाया भुगतान कर देंगे।

यादव ने कहा कि भेसानी मिल्स द्वारा उत्पादित चीनी की जब्ती के लिए कदम उठाए गए थे। इस मिल पर किसानों का 254 करोड़ रुपये बकाया है।

उन्होंने कहा, खेरी मिल्स के मालिकों ने किसानों का बकाया जल्द भुगतान करने का वादा किया है। मिल पर किसानों का करीब 17 करोड़ रुपये बकाया है। ‘ दोषियों पर कार्रवाई करते हुए जिला प्रशासन ने जिले के sugar mills मालिकों को जल्द से जल्द गन्ना किसानों के बकाये का भुगतान करने का आदेश दिया है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »