पाक पर भारत की एयर स्‍ट्राइक के 2 साल, इमरान ने किया याद

दो साल पहले 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में भारतीय जवानों पर हमले का सबक सिखाने के लिए भारत ने आतंकी ठिकाने नेस्तनाबूत करने के इरादे से पाकिस्तान के बालाकोट में एयरस्ट्राइक की थी। इससे बौखलाया पाक जब 27 फरवरी को भारतीय सीमा के अंदर घुस आया तो भारतीय वायुसेना ने उसे बुरी तरह खदेड़ा था। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान इस पर आज भी अपना सीना चौड़ा करन से पीछे नहीं हटे हैं। सीजफायर उल्लंघन और भारत में घुसपैठ करने वाले आतंकियों की पनाहगाह बने पाकिस्तान को उन्होंने ‘शांति और स्थिरता’ का पक्षधर बताया है और सारी जिम्मेदारी भारत पर डाल दी है।
‘भारत गैर-जिम्मेदाराना, पाकिस्तान जिम्मेदार’
इमरान ने ट्वीट किया है, ‘पाकिस्तान पर भारत के अवैध सैन्य हवाई हमले के दो साल होने पर मैं पूरे देश और अपनी सेना को बधाई देता हूं। एक गर्वित और आत्मविश्वासी राष्ट्र के तौर पर हमने अपने हिसाब से समय और जगह पर दृढ़ता से प्रतिक्रिया दी। कैद किए गए पायलट को वापस करके हमने भारतीय भारत की गैर-जिम्मेदाराना सैन्य अस्थिरता के सामने हमने दुनिया को भी पाकिस्तान का जिम्मेदार रवैया दिखाया।’
‘भारत पर है जिम्मेदारी’
यही नहीं, इमरान ने आगे लिखा-‘हम हमेशा शांति के लिए खड़े हैं और बातचीत से सभी मुद्दे सुलझाने के लिए आगे बढ़ने को तैयार हैं। मैं नियंत्रण रेखा पर सीजफायर का स्वागत करता हूं। आगे की बातचीत के लिए अनुकूल माहौल बनाने की जिम्मेदारी भारत पर है। लंबे वक्त से चली आ रही कश्मीर की आजादी की मांग और अधिकार को देने के लिए UNSC रेजॉलूशन के मुताबिक भारत को कदम उठाने चाहिए।’
भारत ने लिया था जवानों का बदला
14 फरवरी 2019 को पुलवामा में CRPF सैनिकों पर आतंकवादी हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे। इसके जवाब में भारत ने 26 फरवरी को आतंकी कैंप्स को निशाना बनाते हुए बालाकोट पर एयरस्ट्राइक कर डाली। इस पर बौखलाए पाकिस्तान ने अगले दिन भारतीय सीमा में अपने विमान भेज दिए। भारतीय वायुसेना ने इसका मुंहतोड़ जवाब देते हुए इन विमानों को खदेड़ दिया था।
अभिनंदन की रिहाई पर खुली थी पोल
इस दौरान भारतीय MiG-21 बाइसन पाकिस्तानी क्षेत्र में पहुंच गया था जिसके पायलट विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को पाकिस्तान ने कैद कर लिया। उन्हें 1 मार्च को छोड़ दिया गया था जिसे लेकर हाल के महीनों में पाकिस्तान के नेताओं ने सरकार की पोल भी खोल दी थी। पाकिस्तान की संसद में अयाज सादिक ने कहा था-‘पैर कांप रहे थे और माथे पर पसीने छूट रहे थे और विदेश मंत्री (कुरैशी) ने हमसे कहा कि अल्लाह के वास्ते हमें उन्हें (वर्धमान) छोड़ देना चाहिए क्योंकि भारत रात नौ बजे पाकिस्तान पर हमला कर रहा है।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *