ढाई लाख रुपए महीने की नौकरी क्‍या छूटी, कार चोरी और चेन स्‍नेचिंग करने लगा इंजीनियर

मुंबई। आलीशान जीवनशैली और ड्रग्‍स के आदी बन चुके एक प्रतिष्ठित टेक्निकल कंपनी के पूर्व वाइस प्रेसीडेंट को जब अपने शौक पूरे करने का कोई रास्‍ता न सूझा तो वह अपराध के दलदल में उतर गया। उसने कार चुराने और चेन स्‍नेचिंग जैसै काम शुरू कर दिए। मुंबई के वासी इलाके में रहने वाले आरोपी सुमित सेनगुप्‍ता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।
पांच साल पहले सुमित ने पारिवारिक दिक्‍कतों की वजह से नौकरी छोड़ दी थी। उस समय उसकी सैलरी ढाई लाख रुपये महीना थी। 2015 में पत्‍नी ने उसके खिलाफ क्रूरता का मुकदमा दर्ज कराया था। इससे वह तनाव में चल रहा था। नौकरी छूट जाने से उसकी महंगी जरूरतें भी नहीं पूरी हो पा रही थीं। ऐसे में वह गलत रास्‍ते पर निकल पड़ा। सुमित ने पुलिस को बताया कि उसने मुंबई के एक नामी संस्‍थान से इंजीनियरिंग का कोर्स करने के बाद पुणे स्थित एक कंपनी में काम करना शुरू कर दिया था।
गोली मारने की धमकी दे लूटी थी कार
इस मामले के जांच अधिकारी विकास गायकवाड़ ने बताया, ‘वासी क्षेत्र में गत 12 दिसंबर को सुमित ने अपने साथी नितिन अग्रवाल (25) के साथ मिलकर एक महिला की चेन लूटी थी। हमने दोनों को घटना के 24 घंटे के भीतर अगले ही दिन पकड़ लिया। दोनों ने जिस कार से चेन छीनने की घटना को अंजाम दिया वह भी चोरी की थी। इसे सुमित ने नौ दिसंबर को फोर्टिस अस्‍पताल के बाहर कार ड्राइवर को गोली मारने की धमकी देकर लूटी थी। उसके पास गन नहीं है, ऐसे में उसने कार ड्राइवर के सिर पर पीछे से लोहे का एक टुकड़ा सटाकर डराया था। सुमित के खिलाफ 2017 में भी एक केस दर्ज हुआ था। हम यह भी जांच कर रहे हैं कि उसके खिलाफ अन्‍य थानों में तो मुकदमा नहीं दर्ज है।’
वासी थाने के वरिष्‍ठ पीआई अनिल देशमुख का कहना है कि उनकी अपराध नियंत्रण टीम ने इस मामले का बेहद कम समय में वारदात पर से पर्दा उठाया। पुलिसकर्मियों ने बेहद सराहनीय काम किया है। हमारी टीम सीसीटीवी फुटेज का अध्‍ययन कर रही है ताकि सुमित की साफ तस्‍वीर मिल सके।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »