Rajiv Academy के 19 छात्र जैनपैक्ट में उच्च पैकेज पर चयनित

मथुरा। Rajiv Academy फाॅर टेक्नालाॅजी एण्ड मैनेजमेंट में कैम्पस प्लेसमेंट के तहत जैनपैक्ट कम्पनी ने उन्नीस विद्यार्थियों को उच्च पैकेज पर चयन किया। पढ़ाई के दौरान ही बड़े पैकेज पर जाॅब ऑफर मिलने से छात्र-छात्राओं में खुशी का माहौल है। छात्र-छात्राओं के बीच इस प्लेसमेंट से उत्साह और सकारात्मक उर्जा का माहौल बन गया है। इससे  चयनित अन्य छात्र-छात्रा आगामी प्लेसमेंट की तैयारी करने में जुट गए हैं। इससे वे भी अपने माता-पिता और संस्थान के सपनों को साकार कर सकें।

प्लेसमेंट के पूर्व जैनपैक्ट कम्पनी की एचआर मैनेजर कर्निका और प्रियम ने छात्र-छात्राओं को कम्पनी के कामकाज के साथ ही भविष्य की सम्भावनाओं पर विस्तार से जानकारी दी। कम्पनी के इन पदाधिकारियों ने इसके बाद लिखित परीक्षा ली। इसके बाद साक्षात्कार लिया गया। जिनमें बीबीए की आर्शी उपाध्याय, अशोक कुमार राजपूत, फैजल, ज्योति अग्रवाल, वैभव गुप्ता, विपुल जैन, समीक्षा, तान्या अग्रवाल, संस्कार चैधरी, रामा शर्मा, राहुल और बीसीए के आशुतोष उपाध्याय, हर्ष, जैरिन रैजी, निशान्त सिंह, प्रियल अग्रवाल, युवराज सिंह तथा बीएससी (सीएस) के तमन्ना आहूजा और शिवम शर्मा ने सफलता हासिल की है।

आरके एजूकेशन हब के चेयरमैन डा. राम किशोर अग्रवाल ने आशीर्वचन देते हुए कहा कि छात्रों को अपने आस-पास के वातावरण को परखना चाहिए ताकि उनकी पढ़ाई में कोई विघ्न न आए। कभी भी कठिन परिश्रम विफल नहीं जाता। छात्र सच्ची लगन, कड़ी मेहनत, ईमानदारी और गुणवत्तापरक शिक्षा के माध्यम से पूरे वातावरण को प्रभावित करें। जिससे समाज में उन्हें सफल छात्र का दर्जा स्वतः ही मिल जाए। मल्टी नेशनल कम्पनियां छात्रों को इसी आधार पर प्लेसमेंट देती हैैं।

Rajiv Academy के वाइस चेयरमैन पंकज अग्रवाल ने कहा कि हमेशा छात्र-छात्राओं को स्वयं के कार्यकलापों पर पूर्ण नियन्त्रण होना चाहिए। व्यावहारिक और सैद्धान्तिक अध्ययन हमें यही सिखाते हैं। हम अपने व्यक्तिव को अपनी परख और ज्ञान के अनुकूल बनाएं। जिससे आईटी के वर्तमान युग में आगे बढ़ने की राह आसान हो सके।
एमडी मनोज अग्रवाल ने कहा कि व्यावसायिक अध्ययन सीधे आर्थोपार्जन से जुड़ा है। जो छात्र-छात्राएं जितनी बारीकी और शीघ्रता से इस रहस्य को समझ जाते हंै, वे उतनी ही शीघ्रता से अपनी मंजिल पा लेते हैं, फिर भविष्य में सफलता के पायदान के बिल्कुल करीब पहंुच जाते हैं।
संस्थान के निदेशक डा. अमर कुमार सक्सैना ने कहा कि जैनपैक्ट कम्पनी विश्व की टाॅप कम्पनियों में से एक है। जो देश-विदेश की बड़ी-बड़ी कम्पनियों को ऑपरेशन और आईटी से सम्बन्धित सुविधाएं उपलब्ध कराती है। विश्व के 25 बड़े देशों में इसके कार्यालयों में लगभग 75 हजार कर्मचारी कार्यरत हैं। मुख्यालय हेमिल्टन बरमूडा में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »