कानपुर-इलाहाबाद NH पर सड़क दुर्घटना में 17 लोगों की मौत, जांच के आदेश

कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर-इलाहाबाद राष्ट्रीय राजमार्ग पर मंगलवार देश शाम हुई एक सड़क दुर्घटना में कम से कम 17 लोगों के मारे जाने की ख़बर है. हादसे में चार लोग घायल हुए हैं.
समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार कानपुर आउटर के पुलिस अधीक्षक अष्टभुज प्रसाद सिंह ने बताया है कि सचेन्डी नाम की जगह ये हादसा तब हुआ जब तेज़ गति से आती एक बस ने एक दूसरे वाहन को टक्कर मारी. टक्कर की वजह से वाहन सड़क की दूसरी ओर गिरा. बस बेक़ाबू हो कर पलटी और खाई में जा गिरी.
कानपुर के पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने बताया कि उन्नाव से गुजरात की ओर जा रही एक प्राइवेट बस सामने से रही एक टेम्पो से भिड़ गई थी. हादसे में बस पलट गई और टेम्पो भी बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया.
हादसे के बाद सबसे पहले स्थानीय लोग वहां पहुंचे जिन्होंने घायलों को बाहर निकाला.
मौक़े पर पहुंची पुलिस ने सभी घायलों को कानपुर के लाला लाजपत राय अस्पताल भेजा जहां डॉक्टर्स ने 16 घायलों को मृत घोषित कर दिया. एक घायल व्यक्ति की इलाज के दौरान मौत हो गई. अभी चार घायलों का इलाज चल रहा है.
घायलों में 15 साल का एक युवा भी शामिल है, जिसके कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हुई है.
मरने वालों में अधिकतर मज़दूर
टक्कर एक प्राइवेट बस और टेम्पो में हुई. हादसे में मारे जाने वाले अधिकतर लोग पास की एक बिस्कुट फैक्ट्री में काम करने वाले मज़दूर थे.
वो बताते हैं कि मरने वाले ज़्यादातर लोग सचेन्डी के ही लाल्हेपुर और ईश्वरीगंज गांव के हैं. इनमें से अधिकतर युवा हैं जो पास ही स्थित एक बिस्कुट फैक्ट्री में काम करते थे और रात की शिफ्ट की शिफ्ट में काम करने जा रहे थे.
हादसे में मरने वालों में एक ही परिवार के तीन भाई और एक अन्य परिवार के दो भाई भी शामिल हैं. मृतकों में 13 लाल्हेपुर गांव और चार ईश्वरीगंज गांव के हैं.
मौक़े पर पहुँचे एक ढाबा संचालक दीपू चौहान ने जानकारी दी कि कई लोग फंसे हुए थे जिन्हें लोगों की मदद से बाहर निकाला गया. कई लोगों की मौक़े पर ही मौत हो गई.
मुख्यमंत्री ने दिए जांच के आदेश
प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मामले में हादसे के कारणों की तुरंत जांच के आदेश दिए हैं. साथ ही हादसे में मरने वालों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये का मुआवज़ा देने की घोषणा की है.
अष्टभुज प्रसाद सिंह ने बताया है कि ये हादसा इतना भयानक था कि दोनों वाहनों में सवार लगभग सभी लोग इससे प्रभावित हुए और कइयों की मौत घटनास्थल पर ही हो गई.
घटना की ख़बर के बाद आसपास के थानों से घटनास्थल पर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी भेजे गए हैं.
लखनऊ में मौजूद सरकार के एक प्रवक्ता ने कहा है कि मुख्यमंत्री ने रोड हादसे में मारे गए लोगों के लिए दुख जताया है और आला अधिकारियों को तुरंत हादसे की जगह पर पहुंचने के निर्देश दिए हैं.
उन्होंने सभी मृतकों के परिजनों को दो लाख रुपये का मुआवज़ा देने की घोषणा की गई है और जिला प्रशासन से कहा है कि वो एक्सीडेंट के कारणों की जांच कर अपनी रिपोर्ट सौंपें.
मुख्यमंत्री ने घायलों के इलाज के लिए भी उचित व्यवस्था के लिए भी आदेश दिए हैं.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों के प्रति संवेदना जताई है. उन्होंने प्रधानमंत्री राहत आपदा कोष से मृतकों के परिजनों के लिए दो लाख और घायलों के लिए 50,000 रुपये की आर्थिक मदद की घोषणा की है.
वहीं गृह मंत्री अमित शाह ने घायलों के शीघ्र ही स्वस्थ होने की कामना की है और हादसे में जान गंवाने वालों के परिजनों के प्रति संवेदना जताई हैं.
-BBC

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *