Gandhi और शास्त्री की जयंती पर समारोह आयोजित

मांट/मथुरा। राष्ट्रपिता महात्मा Gandhi की 150वीं जयन्ती के उपलक्ष्य में राजकीय महाविद्यालय, माँट, मथुरा में विगत 18 सितंबर से आज 2 अक्‍तूबर तक आयोजित ’Gandhi जयंती पखवाड़ा’ तथा ’स्वच्छता पखवाड़ा’ समारोह के अन्तिम दिन आज दिनांक 02.10.2018 को गाँधी जयंती तथा पूर्व प्रधानमन्त्री श्री लाल बहादुर शास्त्री जयंती पर केन्द्रित सांस्कृतिक कार्यक्रम का शुभारम्भ प्राचार्य डाॅ. मीनाक्षी वाजपेयी तथा प्राध्यापकों ने दोनों महापुरुषों के चित्र के समक्ष पुष्पांजलि अर्पित कर किया।
पुष्पांजलि के पश्चात् महाविद्यालय की छात्रा यामिनी बंसल, गुंजन तिवारी, रितु सिंह आदि ने बंकिमचन्द्र चट्टोपाध्याय द्वारा रचित राष्ट्रगीत ’वन्दे मातरम्’ का सस्वर गायन किया। इस अवसर पर स्वयं प्राचार्य डाॅ. मीनाक्षी वाजपेयी एवं कार्यक्रम की संचालक डाॅ. प्रिया मित्तल ने छात्राओं के साथ मिलकर Gandhi जी के प्रिय भजन ’वैष्णव जण तो तेणे कहिए’, ’रघुपति राघव राजा राम’ तथा उनके व्यक्तित्व पर केन्द्रित गीत ’दे दी हमें आज़ादी बिना खड्ग बिना ढाल’ का गायन किया। इसके पश्चात् बी.ए. तृतीय वर्ष की छात्रा दामिनी तिवारी और बी. काॅम. तृतीय वर्ष के छात्र जय किशन अग्रवाल ने गाँधी जी के सिद्धान्तों एवं उनके जीवन-दर्शन पर केन्द्रित विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम में रितु सिंह (बी.काॅम्. तृतीय वर्ष) द्वारा गाया गया गीत ’मेरी पुकार सुन ले’ तथा रश्मि उपाध्याय (बी.ए. तृतीय वर्ष) एवं गुंजन तिवारी (बी.काॅम्. तृतीय वर्ष) द्वारा किया गया काव्य-पाठ भी प्रशंसनीय रहा। इस अवसर पर डाॅ. दीन दयाल द्वारा रचित-निर्देशित और एन.एस.एस. के छात्र-छात्राओं द्वारा प्रस्तुत नाटक ’एक कदम स्वच्छता की ओर’ एवं ’चम्पारण आन्दोलन’ तथा रोवर्स/रेंजर्स के छात्र-छात्राओं द्वारा प्रस्तुत नाटक ’स्वच्छता सन्देश’ की दर्शकों ने विशेष सराहना की।
इससे पूर्व प्राचार्य डाॅ. मीनाक्षी वाजपेयी के निर्देशन एवं डाॅ. राजेश कुमार के संयोजकत्व में 18.09.2018 से प्रारम्भ इस पखवाड़ा कार्यक्रम में गाँधी-दर्शन पर विचार-गोष्ठी, स्वच्छता अभियान, स्वच्छता जागरूकता रैली, नुक्कड़ नाटक तथा विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। सांस्कृतिक कार्यक्रम के पश्चात् प्राचार्य द्वारा प्रतियोगिताओं का परिणाम भी घोषित किया गया। 19.09.2018 को आयोजित निबन्ध-लेखन प्रतियोगिता में रश्मि उपाध्याय (बी.ए. तृतीय वर्ष), छाया कुमारी (बी.ए. तृतीय वर्ष) ने क्रमशः प्रथम् एवं द्वितीय तथा रेखा (बी.ए. तृतीय वर्ष) एवं हिमानी जायस (बी.ए. द्वितीय वर्ष) ने संयुक्त रूप से तृतीय स्थान प्राप्त किया। 22.09.2018 को आयोजित पोस्टर-पेंटिंग प्रतियोगिता में तनुजा (बी.काॅम. प्रथम् वर्ष), कल्पना (बी.काॅम्. प्रथम् वर्ष) तथा नीरेश (बी.काॅम्. तृतीय वर्ष) ने क्रमशः प्रथम्, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त किया। 24.09.2018 को गाँधी जी के सिद्धान्तों एवं आन्दोलनों पर केन्द्रित प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता में सुदर्शन अग्रवाल (बी.ए. तृतीय वर्ष) एवं दामिनी तिवारी (बी.ए. तृतीय वर्ष) ने क्रमशः प्रथम् एवं द्वितीय तथा सुमन निषाद (बी.ए. तृतीय वर्ष) एवं अनिल कुमार बंसल (बी.ए. तृतीय वर्ष) ने संयुक्त रूप से तृतीय स्थान प्राप्त किया। 26.09.2018 को आयोजित भाषण प्रतियोगिता में दामिनी तिवारी (बी.ए. तृतीय वर्ष) ने प्रथम्, सुदर्शन अग्रवाल (बी.ए. तृतीय वर्ष) एवं रश्मि उपाध्याय (बी.ए. तृतीय वर्ष) ने द्वितीय तथा हिमानी जायस (बी.ए. द्वितीय वर्ष) ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। 28.09.2018 को आयोजित आशु-भाषण प्रतियोगिता में दामिनी तिवारी (बी.ए. तृतीय वर्ष), हिमानी जायस (बी.ए. द्वितीय वर्ष) एवं सुमन निषाद (बी.ए. तृतीय वर्ष) ने क्रमशः प्रथम्, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त किया।
छात्र-छात्राओं को सम्बोधित करते हुए प्राचार्य डाॅ. मीनाक्षी वाजपेयी ने भारतीय राष्ट्रीय आन्दोलन, समाज-सुधार तथा स्वच्छता एवं स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता में राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की भूमिका को सर्वाधिक महत्वपूर्ण तथा पूर्व प्रधानमन्त्री लाल बहादुर शास्त्री को कर्मठता एवं सादगी का प्रतीक बताया। उन्होंने समकालीन भारतीय समाज को इनसे प्रेरणा लेने की आवश्यकता पर बल दिया। इस अवसर पर डाॅ. सुरेन्द्र सिंह, डाॅ. दीन दयाल आदि प्राध्यापकों ने भी अपने विचार व्यक्त किये।
कार्यक्रम का कुशल संयोजन डाॅ. राजेश कुमार एवं डाॅ. दीन दयाल ने तथा संचालन डाॅ. प्रिया मित्तल ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »