महिला समागम के लिए 1500 Nirankari women मथुरा आईं

मथुरा में Nirankari women ने दी प्यार की महक फैलाने की सीख

मथुरा। महिलाएं रोशन मीनार बन समाज को ब्रह्मज्ञान की ज्योति से रोशन करें, ताकि समाज से अज्ञानता का अंधकार दूर हो।

उक्त आह्वान दिल्ली से आयीं निरंकारी प्रचारिका डा.शमां कपूर ने यहां हाइवे नवादा स्थित संत निरंकारी सत्संग भवन पर आयोजित महिला समागम में किया।

उन्होंने कहा कि प्रभु से जुड़े भक्तों का जीवन फूलों सा होता हैं, वे प्यार की महक फैलाते हैं। ऐसे भक्त, संत कहलाते हैं, वे पूजे जाते हैं, उनका हर जगह सत्कार होता हैं, क्योंकि वह सत्गुरू से निरंकार-प्रभु को जानकर निरंकारी बन जाते हैं।

निरंकारी प्रचारिका ने कहा कि निरंकारी सत्संग से सीख लेकर हजारों नारियों ने अपने घर परिवार की तस्वीर बदल दी हैं, वें सिर्फ प्रवचन सुनने तक सीमित नहीं रहीं बल्कि निरंकारी सत्गुरू द्वारा प्रदान ’’ब्रह्मज्ञान’’ को अपने जीवन का हिस्सा बनाकर, अपने आचरण द्वारा प्रेम तथा शांति का माहौल देकर अपने ही घर को स्वर्ग बना दिया है।

उन्होंने कहा कि निरंकारी सदगुरू माता सुदिक्षा जी महाराज की प्रेरणा से हर शहर में निरंकारी सत्संग के माध्यम से रिश्तों में मिठास लाने तथा आपस में प्रेम बढाने का प्रयास किया जा रहा है। हर नारी जो स्वयं में खुश रहना चाहती हैं और घर-परिवार को भी खुशमय बनाना चाहती हैं तो ’’ निरंकारी सत्संग’’ से बेहतर कोई विकल्प नही है। निरंकारी सत्गुरू से ब्रह्मज्ञान प्राप्त कर लाखों घर परिवारों में रोनकें आ गयी हैं।

प्रवक्ता किशोर “स्वर्ण” ने बताया कि माता सुदिक्षा जी की प्रेरणा से देशभर में अभियान चल रहा है। मथुरा में हुए महिला समागम में फरह, कोसीकलां, खुर्जा, बुलंदशहर, एटा, फिरोजाबाद, इटावा, मैनपुरी, पुरदिलनगर, सादाबाद, हाथरस, अलीगढ़, आगरा और दिल्ली की लगभग 1500 महिलाओं ने भागीदारी की।

इसमें डॉक्टर शमा कपूरजी, मीरा मलिक जी, नीरु वशिष्ठ जी, नंदिनी दत्ता जी, आरती जी, मंजू लखवानी आदि ने विचार व्यक्त किए और गीत प्रस्तुत किए। संचालन पूनम अरोड़ा जी ने किया। जोनल इंचार्ज श्रीमती कांता महेन्द्रू जी ने आभार व्यक्त किया। मथुरा के संयोजक हरविंदर कुमार जी ने सभी का स्वागत किया। सारी व्यवस्था निरंकारी सेवादल ने सम्भाली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »