इस चर्च में 35 साल बाद बजेगी 150 साल पुरानी वर्शिप कॉल बेल

यूं तो शिमला में जिस तरह से हर साल क्रिसमस मनाया जाता है, वह काफी फेमस है और देशभर पर्यटक यहां क्रिसमस सेलिब्रेट करने आते हैं लेकिन एक साल जो 35 साल से यहां मिसिंग थी, वह इस बार पूरी होने वाली है।
शिमला की मशहूर क्राइस्ट चर्च में 150 साल पुरानी वर्शिप कॉल बेल अब ठीक कर ली गई है और इस साल इसकी गूंज पूरे शहर में सुनाई देगी। इसे लेकर शहर के लोग बेहद एक्साइटेड हैं।
क्रिसमस से पहले मरम्मत
स्थानीय निवासी और रिटायर्ड मकैनिकल इंजीनियर विक्टर ने इस बेल को ठीक करने का जिम्मा उठाया था ताकि क्रिसमस के पहले इसे बजाया जा सके।
विक्टर ने बताया, ‘लोग इस बेल को बजता देख बहुत खुश होंगे। यह एक भावुक पल होगा। कई लोगों ने इस चर्च के आसपास अपना बचपन बिताया है। हमारी बेल के साथ भी बहुत सी यादें जुड़ी हैं।’ उन्होंने बताया कि यह बेल आजादी से पहले से देश में है।
बेल से बुलाए जाते हैं लोग
विक्टर बताते हैं, ‘यह 35 साल से खराब थी इसलिए मैंने इसे सही कर दिया। इसे ठीक करने में 20 दिन की कड़ी मेहनत लगी। मैंने कुछ पार्ट्स यहीं बनवाए और कुछ चंडीगढ़ से मंगवाए।’
विक्टर ने बताया कि वह युवाओं को चर्च बेल के मकैनिज्म और नोट्स-रिदम के बारे में भी बताना चाहते हैं। चर्च में बेल बजाकर लोगों को प्रार्थना और मास या सर्विस के बुलाया जाता है। स्थानीय लोगों के मुताबिक क्राइस्ट चर्च 1857 में बनाई गई थी।
विदेशी पर्यटक भी उत्साहित
विदेशी पर्यटक भी यहां बड़ी संख्या में आते हैं। एक पर्यटक ग्लेन ने बताया, ‘मेरे और मेरे परिवार के लिए क्रिसमस कभी धार्मिक त्योहार नहीं रहा लेकिन फिर भी इस पर हम साथ आते हैं। इसलिए मैं परिवार के साथ भले ही नहीं हूं लेकिन भारतीयों और उनके परिवारों के साथ मैं वह एनर्जी फील कर सकता हूं।’ उन्होंने इस ऐतिहासिक बेल को लेकर भी उत्साह जताया।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *