Rafael पर कांग्रेस ने कहा, तहसीन पूनावाला और उनकी याचिका से कोई संबंध नहीं

नई दिल्‍ली। Rafael पर तहसीन पूनावाला की सुप्रीम कोर्ट में डाली गई याचिका पर कांग्रेस ने पल्ला झाड़ा लिया है। तहसीन ने सुप्रीम कोर्ट रक्षा मंत्रालय को निर्देश दे कि वे 36 Rafael लड़ाकू विमानों की खरीद में आने वाली कुल लागत का खुलासा करें।

Rafael डील पर तहसीन पूनावाला की सुप्रीम कोर्ट में याचिका से कांग्रेस लीगल डिपार्टमेंट के सुप्रीम कोर्ट यूनिट के चेयरमैन और वरिष्ठ वकील अनूप जाॅर्ज चौधरी ने प्रेस नोट जारी कर कहा है कि इस याचिका से कांग्रेस का कोई संबंध नहीं है। अनूप जाॅर्ज चौधरी ने कहा कि पार्टी नहीं समझती है कि ये मसला उठाने के लिए सुप्रीम कोर्ट उचित फोरम है और पार्टी का ना तो तहसीन पूनावाला से कोई संबंध और ना ही उनकी याचिका से।

चौधरी ने कहा कि मीडिया में ऐसी भ्रम की स्थिति रहती है कि तहसीन पूनावाला कांग्रेस का प्रतिनिधित्व कर रहेे हैंं ऐसे में हम यहां साफ करना चाहते हैं कि राफेल डील के खिलाफ तहसीन पूनावाला की याचिका और उनसे पार्टी का कोई संबंध नहीं है।

दरअसल, तहसीन पूनावाला ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर मांग की है कि सुप्रीम कोर्ट रक्षा मंत्रालय को निर्देश दे कि वे 36 राफेल लड़ाकू विमानों की खरीद में आने वाली कुल लागत का खुलासा करें।

याचिका में केंद्र सरकार को यह बताने का निर्देश दिए जाने की मांग की गई है कि क्यों 23 सितंबर 2016 को फ्रांस के साथ इन लड़ाकू विमानों की खरीद के लिए करार पर दस्तखत करने से पहले रक्षा खरीद प्रक्रिया ( डीपीपी) के तहत इस बाबत मंत्रिमंडल की मंजूरी नहीं ली गई।

राफेल डील मामले में लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर बहस के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सीधे प्रधानमंत्री पर गंभीर आरोप लगाए थे। डील की गोपनीयता संबंधी शर्त पर फ्रांस की पुष्टि के बाद खुद पीएम ने राहुल पर पलटवार किया था।

इसके बाद भाजपा के चार सांसदों ने राहुल के खिलाफ इस मामले में सदन को गुमराह करने का आरोप लगाते हुए विशेषाधिकार हनन का नोटिस दिया था। वहीं दूसरी ओर कांग्रेस ने इस मामले में अपने रुख में नरमी नहीं लाने का संकेत देते हुए कहा था कि सौदे की गोपनीयता का इस सौदे के तहत खरीदे जाने वाले विमान की कीमत को छिपाना शामिल नहीं था।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »