ऐमजॉन भारत में विभिन्न पदों के लिए 1300 वैकेंसी

बेंगलुरु। भारत में ऐमजॉन जबर्दस्त हायरिंग के मूड में है हालांकि सरकार की हालिया नीतियों से इसके ई-कॉमर्स बिजनेस को भारत में नुकसान का सामना करना पड़ सकता है। कंपनी की वेबसाइट पर उपलब्ध डेटा के मुताबिक एशिया-पसिफिक के लिए कंपनी के पास जितनी वैकेंसी हैं, उनमें सबसे ज्यादा भारत के लिए है। चीन में उपलब्ध वैकेंसी के मुकाबले भारत में कम से कम तीन गुना ज्यादा वैकेंसी है। एशिया-पसिफिक के बाहर सिर्फ जर्मनी में भारत के बराबर वैकेंसी है।
कहां-कितनी वैकेंसी
भारत में ऐमजॉन के पास विभिन्न पदों के लिए 1,300 वैकेंसी है। चीन में 467 और जापान में 381 वैकेंसी है। ऑस्ट्रेलिया में 250 जबकि सिंगापुर में 174 वैकेंसी है। ज्यादातर ताजा हायरिंग बेंगलुरु, हैदराबाद और चेन्नई में होगी। 2018 के अंत तक ऐमजॉन ने भारत में सीधे तौर पर 60,000 लोगों की हायरिंग की थी।
ई-कॉमर्स के अलावा कंपनी का प्रसार
भारत में कंपनी अपने व्यापार का दायरा बढ़ा रही है। अपने ई-कॉमर्स और क्लाउड बिजनस (एडब्ल्यूएस) के अलावा कंपनी पेमेंट्स, कॉन्टेंट (प्राइम विडियो), वॉइस असिस्टेंट (अलेक्सा), फूड रिटेल और कस्टमर सपॉर्ट की फील्ड में भी अपनी किस्मत आजमा रही है।
प्रतिभा की धरती के तौर पर भारत को देखता है ऐमजॉन
ऐमजॉन की एक महिला प्रवक्ता ने बताया कि कंपनी भारत को प्रतिभाओं वाले स्थान के तौर पर देखती है। उन्होंने कहा कि ऐमजॉन की भारत में जो टीम है वह बिजनेस की जटिल चुनौतियों पर काम करती है। यह टीम नए सलूशन निकालती है जिससे ऐमजॉन के भारत के साथ-साथ दुनिया भर में बिजनस को सहायता मिलती है। उन्होंने कहा, ‘अपनी लगातार ग्रोथ के साथ हम विभिन्न क्षेत्रों में असाधारण प्रतिभाओं की तलाश में रहते हैं। सॉफ्टवेयर डिवेलपमेंट, प्रॉडक्ट ऐंड मार्केटिंग, मशीन लर्निंग, क्वॉलिटी अश्योरेंस, वेब डिवेलपमेंट, प्रॉडक्ट मैनेजमेंट, सप्लाई चेन, कॉन्टेंट डिवेलपमेंट, ऑपरेशंस, स्टूडियो और फटॉग्रफी एवं भारत के कंज्यूमर बिजनस के अन्य फील्ड्स में हायरिंग करते हैं। हमने बीते दशक में भारत में हजारों स्किल और सेमी स्किल वाली जॉब के मौके पैदा किए हैं।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »