गायत्री प्रजापति और उसके परिवार से जुड़ी 13 शेल कंपनियों का खुलासा

लखनऊ। अवैध खनन, रेप और जालसाजी के मामलों में फंसे पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति और उसके बेटों की कीमती संपत्तियों का खुलासा हुआ है। ईडी की गायत्री के बेटे अनिल प्रजापति से दो दिन की गई पूछताछ में ऐसी संपत्तियों का पता चला है, जिनकी किसी को जानकारी नहीं थीं।
ईडी के मुताबिक ये संपत्तियां शेल कंपनियों के नाम पर यूपी से लेकर महाराष्ट्र तक में खरीदी गईं।
पूछताछ में पता चला है कि अनिल ने पुणे में रो-हाउस खरीदे। जब अफसरों ने बैंकों में हुए शेल कंपनियों के ट्रांजेक्शन समेत अन्य लेन-देन का ब्योरा सामने रखा तो अनिल ने पुणे की संपत्तियों के बारे में उगल दिया। ईडी अब पुणे के रजिस्ट्री कार्यालय से संपत्तियों के दस्तावेज जुटाएगा।
खनन घोटाले की जांच के दौरान ईडी को गायत्री और उनके परिवार से जुड़ी 13 शेल कंपनियों का पता चला था। इसके बाद बैंकिंग ट्रांजेक्शन के जरिए कड़ियां जोड़ने पर काली कमाई का ब्योरा सामने आ गया।
मोहनलाल गंज में 100 बीघा जमीन
ईडी ने गायत्री और उनकी पत्नी के नाम पर ली गई 15 संपत्तियों का पता लगाया है। इनमें 11 गायत्री और पांच पत्नी के नाम पर हैं। वहीं, बेटे अनिल की कंपनी एमजे कॉलोनाइजर्स के नाम पर मोहनलाल गंज इलाके में 110 बीघा जमीन खरीदी गई है। इस जमीन का बाजार भाव तीन करोड़ रुपये/बीघा से ज्यादा बताया जा रहा है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *