बहुचर्चित राजा मानसिंह हत्‍याकांड में डीएसपी सहित 11 पुलिसकर्मी दोषी करार

मथुरा। राजस्‍थान के बहुचर्चित राजा मानसिंह हत्‍याकांड में आज मथुरा जिला एवं सत्र अदालत ने तत्‍कालीन डीएसपी कानसिंह भाटी सहित 11 लोगों को दोषी करार दिया है। सजा का ऐलान कल किया जा सकता है।

See Video–

गौरतलब है कि राजस्‍थान की भरतपुर रियासत के राजा मानसिंह सहित दो अन्‍य लोगों की 21 फरवरी 1985 के दिन कस्‍बा डीग में तब मौत हो गई थी जब पुलिस और राजा मानसिंह के बीच सीधी गोलीबारी हुई।
दरअसल, 20 फरवरी 1985 को राजा मानसिंह ने कस्‍बा डीग में राजस्‍थान के तत्‍कालीन मुख्‍यमंत्री शिवचरण माथुर के सभा मंच को अपनी जोंगा गाड़ी से ध्‍वस्‍त कर दिया था।
ये राजस्‍थान विधानसभा चुनाव का दौर था। राजा मानसिंह भी इन चुनावों में विधानसभा क्षेत्र डीग से बतौर निर्दलीय प्रत्‍याशी चुनाव लड़ रहे थे।
राजा मानसिंह इस बात से नाराज थे कि डीग के महल पर कांग्रेस प्रत्‍याशी के समर्थन में पार्टी का झंडा लगा दिया गया था।
अगले दिन पुलिस पार्टी (जिसका नेतृत्‍व तत्‍कालीन डिप्‍टी एसपी कानसिंह भाटी कर रहे थे) का सामना कस्‍बा डीग के ही अनाज मंडी क्षेत्र में राजा मानसिंह से हो गया। इस दौरान दोनों ओर से हुई गोली बारी में राजा मानसिंह, सुमेर सिंह तथा हरी सिंह की मौत हो गई।
इस घटना की रिपार्ट राजा मानसिंह के दामाद विजय सिंह ने डीएसपी कानसिंह भाटी, कोतवाल डीग वीरेन्‍द्र सिंह सहित कुल डेढ़ दर्जन पुलिसकर्मियों के खिलाफ लिखाई।
दूसरी ओर डीग के कोतवाल वीरेन्‍द्र सिंह ने राजा मानसिंह, विजय सिंह, सुमेर सिंह एवं हरी सिंह को नामजद करते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई।
22 फरवरी को राजा मानसिंह के अंतिम संस्‍कार में एकत्र हुई भारी भीड़ उग्र हो गई जिस कारण न केवल आगजनी व तोड़फोड हुई बल्‍कि पुलिस फायरिंग में तीन लोग भी मारे गए।
बाद में राज्‍य सरकार ने इस मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी।
राजा मानसिंह के दामाद और इस केस के वादी विजय सिंह ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर मुकद्दमे को राजस्‍थान के बाहर स्‍थानांतरित करने की मांग की, जिसे स्‍वीकार करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने मुकद्दमा भरतपुर के पड़ोसी जनपद मथुरा (उत्तर प्रदेश) को सौंप दिया।
मथुरा जिला एवं सत्र न्‍यायालय में 35 साल से चल रहे इस केस के दौरान तीन आरोपी सिपाहियों की मौत हो गई जबकि डीएसपी कानसिंह भाटी की गाड़ी के चालक को आरोपमुक्‍त कर दिया गया।
आज इस मामले के निर्णय का सभी को इंतजार था। अदालत ने आज शेष 14 आरोपियों में से डीएसपी कानसिंह भाटी सहित 11 को दोषी करार दिया है जबकि 3 सिपाहियों को बरी कर दिया।
दोषियों की सजा का ऐलान कल बुधवार 22 जुलाई को किए जाने की संभावना है।
फैसले के वक्‍त अदालत में मौजूद राजा मानसिंह की बेटी ने अदालत के निर्णय पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि देर से ही सही लेकिन न्‍याय मिला।
-Legend News

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *