श्रीनगर हवाई अड्डे पर ही रोका गया 11 सदस्‍यीय विपक्ष का प्रतिनिधमंडल

नई दिल्‍ली। विपक्षी दलों का प्रतिनिधिमंडल श्रीनगर तो गया लेकिन राहुल गांधी समेत सभी 11 नेताओं को हवाई अड्डे से बाहर जाने के इजाजत नहीं दी गई। इस पर वहां हंगामा शुरू हो गया।
श्रीनगर में सुरक्षा हालात का हवाला देते हुए नेताओं को एयरपोर्ट से बाहर निकलने की अनुमति नहीं मिली। राहुल के साथ गुलाम नबी आजाद, एनसीपी नेता माजिद मेमन, सीपीआई लीडर डी. राजा के अलावा शरद यादव समेत कई नेता मौजूद हैं।
गुलाम नबी के आरोप
इससे पहले कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कश्मीर में हालात को लेकर आज एक बार फिर केंद्र सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि सरकार दावा कर रही है कि हालात ठीक हैं लेकिन हमें भी वहां नहीं जाने दिया जा रहा।
उन्होंने कहा कि हमको अपने घर नहीं जाने देते तो इसका मतलब है कि सरकार कुछ छिपा रही है। राज्य के वरिष्ठ नेताओं की नजरबंदी पर भी आजाद ने सवाल उठाए।
केंद्र सरकार पर कांग्रेस नेता ने लगाया राजनीति का आरोप
विपक्षी नेताओं के दल रवाना होने से पहले आजाद ने अपने घर पर मीडिया से बात की। उन्होंने सरकार के कश्मीर को लेकर विपक्षी दलों द्वारा राजनीति करने पर पलटवार करते हुए कहा, ‘जिनको राजनीति करनी थी, उन्होंने राजनीति कर दी। राज्य के दो टुकड़े कर दिए। हम वहां जाना चाहते हैं ताकि सरकार की मदद कर सकें। विपक्षी नेता भी कानून को समझने और उसका पालन करने वाले लोग होते हैं।’
आजाद का आरोप, सरकार कश्मीर के हालात छुपा रही
आजाद ने कश्मीर में नेताओं की नजरबंदी पर भी सवाल उठाया।
उन्होंने कहा, ‘जम्मू के बच्चों को कश्मीरी बताकर हालात सामान्य होने की बात कही जा रही है। हालात सामान्य हैं तो मेरा कश्मीर घर है, मैं प्रदेश का पूर्व सीएम हूं, मुझे वहां क्यों नहीं जाने दिया जा रहा?
अगर हालात ठीक हैं तो सरकार क्यों उमर अब्दुल्ला के गलियों में घूमने पर रोक लगाए हुए हैं। महबूबा मुफ्ती और फारूक अब्दुल्ला को घर में बंद किया गया है। इसका मतलब है कि सरकार कुछ छिपा रही है। सरकार क्या छुपाना चाह रही है, हमें बताए।’
विपक्षी नेताओं के प्रतिनिधि दल में शामिल माजिद मेमन ने कहा कि हम सरकार का विरोध करने नहीं जा रहे हैं। हम सरकार के सहयोग के लिए ही जा रहे हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »