महाराष्ट्र की भायखला jail में अबतक 104 कैदी बीमार, जांच जारी

भायखला महिला jail में अभी 262 कैदियों को रखने की क्षमता है, जबकि फिलहाल यह संख्या 300 है जिनमें से 17 महिलाएं अपने बच्चो के साथ यहां रहती हैं

मुंबई। कुल 312 कैदियों वाली महाराष्ट्र की भायखला jail में अबतक 104 कैदी बीमार पड़ चुके हैं, पिछले चार दिनों में प्रभावित कैदियों की कुल संख्या 104 हो गई है जिनमें से ज्यादातर महिलाएं हैं। जेजे हॉस्पिटल के मेडिकल अधीक्षक डॉ संजय सुरासे ने बताया कि नौ मरीजों को पेट में दर्द और पानी की कमी की शिकायत के बाद कल अस्पताल में भर्ती कराया गया।

गौरतलब है कि भायखला महिला जेल में अभी 262 कैदियों को रखने की क्षमता है, जबकि फिलहाल यह संख्या 300 है जिनमें से 17 महिलाएं अपने बच्चो के साथ यहां रहती हैं।

पिछले छह महीने से यहां खाने की क्वालिटी को लेकर कैदियों में नाराजगी देखने को मिल रही थी। महिला कैदियों को सिर्फ एक साबुन दिया जाता है जिससे उन्हें नहाना भी होता है और कपड़े-बर्तन भी धोने होते हैं। नहाने के लिए पर्याप्त पानी कभी नहीं मिलता, जिसके चलते कई कैदियों को रैशेज और यूरिनरी इन्फेक्शन हो जाता है।

जेल में बंद एक कैदी की रिश्तेदार ने कहा, ‘जब भी हम उनसे मिलते हैं, वह खराब खाने की शिकायत करती हैं। चावल और सब्जियों में कीड़े और बदबूदार दाल वहां रोज की बात है। इसके अलावा ठसाठस भरे बैरक और गंदे टॉइलट की समस्या तो है ही।’ 2013 में इस जेल में बंद रही एक अन्य कैदी शीतल शेंडे ने बताया कि उनके लिए हालात इसलिए ज्यादा खराब थे कि वह प्रेग्नेंट थीं। उन्होने बताया, ‘हमारे बैरक में तय संख्या से कहीं ज्यादा महिलाएं होती थीं। हम पूरी तरह जेल स्टाफ की दया पर निर्भर थे। जो कैदी उन्हें घूस नहीं दे पाते थे, उनपर सबसे ज्यादा अत्याचार होते थे। कई बार कैदी बीमार होती थीं, पर कोई डॉक्टर उन्हें देखने नहीं आता था।’

एक अधिकारी ने आज बताया कि भायखला जेल की 81 महिला कैदियों के 20 जुलाई को बीमार पड़ने के बाद सरकारी जेजे अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अधिकारियों ने कैदियों के बीमार होने के पीछे विषाक्त भोजन , दूषित जल या दवा का नुकसानदेह असर होने का संदेह जताया था। शनिवार तक इसी तरह के लक्षणों की शिकायत के साथ बीमार कैदियों की संख्या 95 पर पहुंच गई थी। सुरासे ने बताया कि ज्यादातर कैदियों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई लेकिन 13 महिलाओं समेत 15 कैदी अब भी अस्पताल में हैं।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि 13 महिलाओं में से दो गर्भवती हैं। सुरासे ने बताया कि कैदियों के बीमार होने का सही कारण पता लगाने के लिए जांच जारी है। इससे पहले जेल के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा था कि कैदियों और स्टाफ को एंटी वायरल दवा दी गयी थी जिसके बाद कुछ कैदियों ने बेचैनी की शिकायत की।

जेल अधिकारियों ने कहा कि शीना बोरा हत्याकांड की मुख्य आरोपी इंद्राणी मुखर्जी भी भायखला जेल में बंद हैं लेकिन वह अस्पताल में भर्ती होने वाली कैदियों में शामिल नहीं हैं। एक अधिकारी ने बताया कि कैदियों को दिए गए पानी और खाने के नमूनों की जांच की जा रही है। इस जेल में 312 कैदी हैं।

यह jail पिछले साल एक कैदी मंजू शेट्टी की मौत के बाद चर्चा में रही थी जिसकी मौत अधिकारियों द्वारा कथित तौर पर पीटे जाने के कारण हुई थी। मामले में छह अधिकारियों की गिरफ्तारी हुई थी।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »