दूसरे कार्यकाल में मोदी सरकार के 100 दिन पूरे, जावडेकर ने बताईं उपलब्‍धियां

नई दिल्‍ली। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे होने पर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने सरकार की उपलब्धियों के बारे में बताया।
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि 100 दिनों इतने महत्वपूर्ण और इतने ज्यादा निर्णय शायद ही किसी सरकार में लिए गए हों।
उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 को हटाना, तीन तलाक खत्म करना सरकार के 100 दिन में किए गए सबसे महत्वपूर्ण काम हैं।
370 बेहद अहम फैसला
सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने कहा कि 70 साल से जम्मू-कश्मीर अलग-थलग पड़ा था, वहां के नागरिकों को योजनाओं का लाभ नहीं हो पा रहा था। अब जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को ये सारी योजनाओं के लाभ मिलने शुरू हो चुके हैं। पूरे जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में सिर्फ 14-15 थाना क्षेत्र हैं, जहां धारा 144 लागू है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार की बड़ी सफलता यह है कि पाकिस्तान ने दुनियाभर का दरवाजा खटखटाया, लेकिन पूरी दुनिया भारत के साथ खड़ी रही। यह सिर्फ देश का सपना नहीं है, यह सरकार का ध्येय भी है।
केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘तीन तलाक, पॉक्सो, समान वेतन देने का ऐतिहासिक निर्णय, 40 करोड़ असंगठित मजदूर, 6 करोड़ छोटे व्यापारी और 14 करोड़ किसानों को पेंशन देने की योजना बेहद महत्वपूर्ण फैसले थे।’
उन्होंने कहा कि जनधन, आधार और मोबाइल से पारदर्शिता लाकर डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर की योजना और बढ़ी है।
जलशक्ती मंत्रालय का गठन
जल के स्रोतों से लेकर, जल संचय और जल संग्रह, जल की बचत और उसका सही उपयोग सुनिश्चित करने की दिशा में हर घर को जल का लक्ष्य रखा गया है। आज भी लाखों महिलाओं को पानी लाने के लिए दूर-दूर तक जाना पड़ता है। अब जब उन्हें घर में पानी भी मिलेगा, गैस भी मिलेगा तो महिलाएं सशक्त होंगी। इस लिहाज से 1.57 लाख कार्य हो चुके हैं जबकि 2.11 लाख काम और करने का लक्ष्य है।
सभी वर्गों को मिला सुरक्षा कवच
सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, ‘तेजी से देशहित के निर्णय, तैयारी से जबर्दस्त निर्णय, तरक्की के बहुत महत्वपूर्ण निर्णय, सामाजिक न्याय के निर्णय, गरीब, मजदूर, किसान, दलित आदिवासी को सक्षम बनाने के निर्णय, इन्हीं सारे वर्गों को सुरक्षा कवच देने वाले निर्णय, सारी सरकारी प्रशासन में पारदर्शिता लाने वाले निर्णय, जनभागीदारी के निर्णय और विश्व में साख बढ़ाने वाले निर्णय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी के नेतृत्व में हुए।’
अर्थव्यवस्था के लिए महत्वपूर्ण फैसले
उन्होंने कहा कि सरकार ने जम्मू-कश्मीर में 370 हटाने, गैर-कानून गतिविधियां रोकने, 5 लाख करोड़ डॉलर की इकॉनमी बनाने की दिशा में बढ़ने के निर्णय किए। यह इसलिए हो पाया कि सरकार बनने से पहले ही इसकी तैयारी शुरू कर दी थी क्योंकि जनता का विश्वास जीतने का भरोसा था।
अभियानों में बढ़ी जनभागीदारी
उन्होंने कहा कि जनभागीदारी मोदी सरकार की प्रमुख मुहिम है, इसलिए पहले योग और अब फिट इंडिया, स्वच्छ भारत, सिंगल यूज प्लास्टिक के खिलाफ मुहिम जैसे नए-नए जनभागिदारी के अभियान छेड़े हैं।
प्रकाश जावडेकर ने कहा कि मोदी सरकार के नेतृत्व में भारत की साख दुनिया में बढ़ी है और दुनिया भारत के साथ खड़ी है। उन्होंने कहा कि इसरो के चंद्रयान- 2 अभियान में प्रधानमंत्री ने जो सहृदयता का प्रमाण दिया, वह मोदी सरकार का एक संवेदनशील चेहरा है।
एक दिन में कंपनी खोलने की सुविधा: जावडेकर
उन्होंने कहा कि भारत 2014 में दुनिया की 11वीं बड़ी अर्थव्यवस्था थी, 2019 में 5वीं अर्थव्यवस्था हो गई है, अब तीसरी अर्थव्यवस्था बनने की दिशा में 5 ट्रिलियन डॉलर का जो लक्ष्य रखा है, उसे पूरा होने का भरोसा है। उन्होंने कहा कि एफडीआई के नियमों लचीला किया गया है, सरकारी निवेश बढ़ाया और पांच वर्षों में इन्फ्रास्ट्रक्चर पर 100 लाख करोड़ रुपये खर्च करने का लक्ष्य रखा है। ईज ऑफ डुइंग बिजनेस बढ़ाकर एक दिन में कंपनी खोलने की सुविधा दी जा रही है, ऐसा पहली बार हो रहा है। जीएसटी और इनकम टैक्स में संवेदनशीलता से बदलाव हो रहे हैं। फिजिकल इंटरफेरेंस खत्म करके पारदर्शी प्रक्रिया अपनाई जा रही है।
रोजाना 80 हजार गैस कनेक्श दिए
देहात के हर घर में बिजली पहुंचाने का लक्ष्य छह महीने में पूरा हो जाएगा। उज्ज्वला योजना के तहत 8 करोड़ गैस कनेक्शन दिए गए और मोदी सरकार में 6 करोड़ लोगों ने अपने पैसे से कनेक्शन लिए। ऐसे में पिछले पांच वर्षों में गैस कनेक्शन का कुल आंकड़ा 14 करोड़ रहा है। बाकी घरों में भी गैस कनेक्शन पहुंचाने पर काम चल रहा है। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिनों में 80 लाख गैस कनेक्शन दिए गए। मतलब हर दिन 80-80 हजार गैस कनेक्शन दिए गए हैं।
आयुष्मान भारत बड़ी सफलता
आयुष्मान भारत के तहत 41 लाख मरीज अस्पताल में मुफ्त इलाज करवा चुके हैं। यह आयुष्मान भारत की बड़ी सफलता है। दिल्ली जैसे कुछ राज्यों ने इसे स्वीकार नहीं किया है। अब ऐसे राज्यों की जनता ही सरकारों को योजना लाने को बाध्य करेगी। इसके तहत 16 हजार हॉस्पिटल योजना में शामिल हैं, 10 करोड़ ई-कार्ड्स जारी हुए हैं। 20 हजार से ज्यादा वेलनेस सेंटर भी तैयार हुए। इन सेंटरों में हर व्यक्ति का हर साल बेसिक मेडिकल टेस्ट होगा और बीमारियों से बचने के उपाय भी बताए जाएंगे।
किसानों को सहायता
किसानों को हर साल 6 हजार रुपये देना दुनिया का सबसे बड़ी लागत सहायता है। इससे 14 करोड़ किसानों को 6.37 करोड़ रुपये की मदद मिलेगी। पीएम किसान मान धन योजना में 5 करोड़ छोटे और सीमांत किसानों को 3 हजार रुपये प्रति माह की न्यूनतम पेंशन देने की व्यवस्था की गई।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *