दीपावली तक Shopping के 10 शुभ संयोग

नई दिल्ली। Shopping के लिए  शारदीय नवरात्रि प्रारंभ होने के साथ ही बाजारों में रौनक दिखने लगी है। नवरात्रि के पहले दिन गुरुवार को बाजार में अच्छी खरीदारी होने से व्यापारियों के चेहरे खिल गए। अब यह रौनक दीपावली तक जारी रहेगी। दीपावती तक 10 ऐसे शुभ संयोग पड़ रहे हैं, जिन पर बाजार में धूम रहेगी। क्योंकि इन शुभ संयोगों पर जमकर खरीदारी होने की उम्मीद है।

सालभर से व्यापारियों को इस अवसर का इंतजार था। जिसके चलते व्यापारी कई दिनों से तैयारियां कर रहे थे। आने वाले शुभ संयोगों के लिए व्यापारी तैयारियों में जुटे हैं क्योंकि इन दिनों में सबसे ज्यादा खरीदारी होती है। ज्योतिषाचार्य पं.सतीश सोनी ने बताया कि इन शुभ संयोगों में खरीदारी करना बहुत फलदायी रहता है। इन संयोगों में खरीदारी करने से सुख-समृद्घि आती है।

23 सितंबर- सर्वार्थ सिद्घि योग और रवि योग

24 सितंबर- रवि योग

30 सितंबर- दशहरा अबूझ मुहूर्त रहता है। इसके साथ ही सर्वार्थ सिद्घि योग और रवि योग भी पड़ रहा है।

5 अक्टूबर- सर्वार्थ सिद्घि योग, अमृत योग

6 अक्टूबर- सर्वार्थ सिद्घि योग, अमृत योग

11 अक्टूबर- सर्वार्थ सिद्घि योग

13 अक्टूबर- पुष्य नक्षत्र

14 अक्टूबर- पुष्य नक्षत्र

17 अक्टूबर- धनतेरस है। इस दिन अबूझ मुहूर्त रहता है

19 अक्टूबर- दीपावली

इलेक्ट्रॉनिक : नवरात्रि प्रारंभ होने के साथ ही इलेक्ट्रॉनिक सेक्टर में भी खरीदारी शुरू हो गई है। इस बार इलेक्ट्रॉनिक सेक्टर में दीपावली तक 50 करोड़ रुपए का व्यापार होने की संभावना है, एलईडी के साथ-साथ ओ-एलईडी की डिमांड बाजार में काफी बढ़ गई है। इस समय ग्राहकों को लुभाने के लिए हर प्रोडक्ट पर डिस्काउंट भी दिया जा रहा है।

ऑटोमोबाइल : नवरात्रि के पहले दिन गुरुवार को ऑटो मोबाइल सेक्टर में काफी बिक्री हुई। अब 30 सितंबर यानि दशहरा के लिए लोगों ने पहले से ही बुकिंग करवा रखी है। दशहरा के लिए पहले से लोगों ने बुकिंग करवाई है। इसकी डिलीवरी वह दशहरा पर लेंगे। उधर धनतेरस और दीपावली के लिए भी लोगों ने अभी से बुकिंग करवाई है। कुछ वाहनों पर दो से तीन महीने की वेटिंग भी चल रही है। ई-रिक्शा की मांग खूब बढ़ रही है। दशहरा, धनतेरस और दीपावली के लिए हमारे पास पहले से बुकिंग है।

सराफा : दीपावली के बाद सहालग भी शुरू होंगे। इसके चलते लोग पहले से ही सोना-चांदी के जेवरात की खरीदारी करते हैं। दशहरा, पुष्य नक्षत्र, धनतेरस और दीपावली पर सोना, चांदी के जेवरातों की बिक्री जमकर होने की संभावना है।

बर्तन : बर्तन का कारोबार भी इन दिनों में काफी बढ़ जाता है। इसके चलते बर्तन कारोबारियों को नोटबंदी और जीएसटी के बाद पहला मौका है। हालांकि जीएसटी से बर्तन महंगे जरुर मिलेंगे, लेकिन पुष्य नक्षत्र और धनतेरस पर बर्तन खूब खरीदे जाते हैं। इसलिए अभी से व्यापारियों ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है।

कपड़ा : कपड़े पर जीएसटी लगने के बाद पहला अवसर है जिसका कपड़ा व्यापारियों को इंतजार था। नए-नए डिजाइन के स्टॉक अभी से मंगवा लिए हैं। Shopping में सबसे ज्‍यादा  कपड़ा बाजार में अभी से रौनक दिखने लगी है।
– एजेंसी