‘स्पूफ’ ऐप के जरिए SSP के नाम से कॉल, एनकाउंटर का डर दिखाकर वसूली

गाजियाबाद। क्रिमिनल बैकग्राउंड के किसी शख्स को फोन पर कॉल आए और नंबर SSP का दिखाए। कॉलर कहे कि वह एनकाउंटर लिस्ट में है, बचना है तो पैसे दो… तो डरना लाजमी है। इसी डर का फायदा उठाया बस्ती के जेल में बंद गैंगेस्टरों ने। पुलिस को जानकारी मिली तो इस गैंग के एक मेंबर को गाजियाबाद बुलाकर पकड़ा गया।
SSP वैभव कृष्ण ने बताया कि यह गैंग कॉल के लिए ‘स्पूफ’ (धोखा) ऐप का इस्तेमाल करता था। इस ऐप में कॉलिंग के लिए SSP, CO जैसे अफसरों के नंबर का इस्तेमाल करते थे। यूपी में एनकाउंटर से बदमाश डरे हुए हैं इसलिए गैंग भी लोगों को एनकाउंटर की धमकी देते थे। टारगेट से बचाने के लिए पैसे मांगे जाते थे। जब बंदा फंस जाता तो गैंग का मेंबर ब्रजभान को फ्लाइट से वसूली को आता था।
गैंग ने गाजियाबाद के एक शख्स को ऐसे ही टारगेट किया। यह शख्स तस्करी के आरोप में बस्ती जेल में इस गैंग के बदमाशों के साथ बंद था। उससे एक लाख रुपये, स्मार्ट फोन और मिठाई का डिब्बा मांगा। पुलिस को जानकारी मिली तो प्लान बनाकर गैंग मेंबर ब्रजभान को गाजियाबाद बुलाया और गिरफ्तार कर लिया।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »