सोशल मीडिया पर सऊदी अरब में हो गया ‘तख्तापलट’

रियाद। रॉयल पैलेस के बाहर हुई गोलीबारी ने सऊदी अरब में सैन्य तख्तापलट की कोशिशों की अफवाह को हवा दे दी है।
दरअसल, शनिवार को रॉयल पैलेस के बाहर एक टॉय ड्रोन गिरा दिया गया। इसके बाद यह कयास लगाए जाने लगे कि गोलीबारी तख्तापलट के मकसद से की जा रही है। सोशल मीडिया पर कई वीडियो शेयर किए गए, जिसमें रॉयल पैलेस के बाहर भारी गोलीबारी होने का दावा भी किया गया, हालांकि ये वीडियो झूठे साबित हुए।
‘वॉल स्ट्रीट’ की पत्रकार मारगरीटा स्टैनकाटी ने सऊदी अरब से ट्वीट किया, ‘रियाद में तख्तापलट की कोशिश नहीं हुई है। एक टॉय ड्रोन किंग के पैलेस के बेहद करीब आ गया था और उसे गिरा दिया गया है।’ हालांकि मारगरीटा ने यह भी कहा कि ड्रोन किसने और किस मकसद से भेजा था, यह अभी तक स्पष्ट नहीं हो सका है।
एक सऊदी अधिकारी ने स्थानीय न्यूज़ एजेंसी को यह बताया कि ऑनलाइन गोलीबारी की वीडियो पोस्ट होने के बाद ड्रोन को मार गिराया गया है। रियाद पुलिस के प्रवक्ता ने बताया कि खोजामा जिले के चेकपॉइंट पर एक ड्रोन देखा, जिसे आदेशानुसार गिरा दिया गया।
सोशल मीडिया पर हो गया ‘तख्तापलट’
इस बीच सोशल मीडिया पर अफवाह फैली कि सऊदी के शहजादे मोहम्मद बिन सलमान को पास के ही सैन्य अड्डे में बंकर में छिपाया गया है, हालांकि बाद में यह खबर भी झूठी साबित हो गई। अल जजीरा ने ट्वीट किया कि गोलीबारी के वक्त किंग सलमान पैलेस में नहीं थे। ट्विटर पर भी तख्तापलट के लिए हो रही फायरिंग के कई वीडियो शेयर किए गए, जो झूठे थे।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »