40 साल बाद सूर्य ग्रहण पर बनेगा ऐसा संयोग

नई दिल्‍ली। शुक्रवार 13 जुलाई 2018 को साल का दूसरा सूर्य ग्रहण होगा। साथ ही इस दिन 40 साल बाद दोबारा एक खास संयोग बनने जा रहा है। नासा के मुताबिक इससे पहले 1974 में 13 दिसंबर, शुक्रवार के दिन यह संयोग बना था।

दरअसल, इस हफ्ते होने वाला आंशिक सूर्य ग्रहण 13 तारीख दिन शुक्रवार को पड़ेगा। दुनियाभर में लोग इस तारीख को अपशकुन मानते हैं और इस दिन किसी भी शुभ काम की शुरुआत करने से बचते हैं। अगली बार ऐसा संयोग 2080 में 13 सितंबर को पड़ेगा, जब शुक्रवार के दिन ही आंशिक सूर्य ग्रहण होगा।

यह सूर्यग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा। इंग्लैंड के ग्रीनविच शहर में यह दोपहर 1:30 बजे नजर आएगा और अमेरिका के पूर्वी तट पर सुबह 9:30 बजे दिखेगा। ऑस्ट्रेलिया के दक्षिणी क्षेत्र और मेलबर्न में भी नजर आएगा। 13 जुलाई को पड़ने वाला सूर्यग्रहण भारतीय समय अनुसार 7 बजकर 18 मिनट पर शुरू होगा। अगस्त में साल का तीसरा सूर्य ग्रहण भी होगा। यह उत्तरी यूरोप और पूर्व एशिया में नजर आएगा।

सूर्य ग्रहण पर इन बातों का रखें खास ध्यान

13 जुलाई आषाढ़ अमावस्या के दिन पड़ रहा है सूर्य ग्रहण। यह सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा। इंग्लैंड के ग्रीनविच शहर में यह दोपहर 1:30 बजे नजर आएगा और अमेरिका के पूर्वी तट पर सुबह 9:30 बजे दिखेगा। नासा की मानें तो आंशिक सूर्य ग्रहण अब शुक्रवार को 2080 में होगा।ज्योतिषियों के अनुसार ग्रहण से जुड़े कुछ नियम मानना बहुत जरूरी है।

सूर्य ग्रहण का समय
13 जुलाई को आषाढ़ कृष्ण पक्ष अमावस्या
प्रात: 7 बजकर 18 मिनट और 23 सेकंड से शुरू और मोक्ष 9 बजकर 43 मिनट 44 सेकंड बजे होगा।

ज्योतिषियों के अनुसार सूर्य ग्रहण लगने से पहले दूध-दही जैसी चीजों में तुलसी के पत्ते डालकर रखने चाहिए।
जिस वक्‍त सूर्य ग्रहण लगा होता है उस अवधि को सूतक काल कहते हैं, ज्योतिषियों के अनुसार सूतक का प्रभाव नहीं पड़ेगा लेकिन इस अवधि में पूजा-पाठ और मूर्ति पूजा नहीं की जाती है। ऐसा भी कहा जाता है कि सूर्य ग्रहण के समय सोना और खाना नहीं चाहिए।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »