ब्रिटिश लग्जरी कारों के लिए शानदार मार्केट साबित हो रहा है भारत

भारत ब्रिटिश लग्जरी कारों के लिहाज से शानदार मार्केट साबित हो रहा है और यही ब्रिटेन की ऑटोमोटिव कंपनियों के भारतीय बाजार के प्रति आकर्षण की वजह है। हालिया आंकड़ों के अनुसार, भारत अब ब्रिटेन के लिए कार एक्सपोर्ट के हिसाब से सातवां सबसे बड़ा एशियाई बाजार बन चुका है। इससे पहले भारत इस मामले में आठवें स्थान पर था।
इस साल के शुरुआती 6 महीनों में ब्रितानी कारों की भारत में डिमांड 8.3 फीसदी बढ़ गई। इतना ही नहीं, इस दौरान भारत में बनी कारों के प्रति भारतीय ग्राहकों में खास आकर्षण देखा गया। इसमें तकरीबन 48.6 फीसदी का उछाल देखा गया। शुरुआती 6 महीनों में भारत में बने 21,135 कार मॉडल बिके।
यूके सोसायटी ऑफ मोटर मैन्युफैक्चरर्स ऐंड ट्रेडर्स के चीफ एग्जिक्यूटिव माइक हॉज के मुताबिक, भारत में प्रीमियम सेगमेंट कारों के साथ ही खासतौर पर ब्रिटिश लग्जरी ब्रैंड्स के प्रति आकर्षण बढ़ रहा है। भारत में इस साल ब्रिटेन से शुरुआती 6 महीनों में 1,650 लग्जरी कारें आईं। हालांकि, ब्रेग्जिट के चलते ब्रिटेन ऑटोमोटिव बाजार को नुकसान उठाना पड़ा है। वहां कारों के प्रॉडक्शन में 2.9 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई।
ओवरआल देखें तो दुनियाभर में ब्रिटेन से एक्सपोर्ट होने वाली लग्जरी कारों के लिए शुरुआती 6 महीने अच्छी खबर नहीं लाए। एक्सपोर्ट में 0.9 फीसदी की गिरावट के साथ कुल 6,83,826 कारें ब्रिटेन से इस अवधि में दुनियाभर के मुल्कों में एक्सपोर्ट की गईं।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *